कृषि कानून के विरोध में बरगवां रेलवे स्टेशन में ‘रेल रोको, रास्ता रोको’ आंदोलन

कृषि कानून के विरोध में बरगवां रेलवे स्टेशन में ‘रेल रोको, रास्ता रोको’ आंदोलन

सिंगरौली की आवाज (वेबडेस्क)गुरूवार, 17, दिसंबर,2020

कृषि कानून के विरोध में राष्ट्रीय आह्वान पर बरगवां रेलवे स्टेशन में ‘रेल रोको, रास्ता रोको’ आंदोलन संयुक्त रूप से किया गया, आंदोलन का उद्देश्य केंद्र सरकार द्वारा कृषि कानून को तत्काल वापस लेने का था भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के संजय नामदेव ने कहा है कि सरकार ने जो कृषि कानून लाया है वो किसान हितैषी नहीं है, ये कानून उद्योगपतियों को लाभ पहुँचाने के लिये लाया गया है संजय नामदेव का कहना है कि आज जबकि किसानों के सामने बिजली, खाद्य और सिंचाई की समस्या है उसका समाधान करने की जरूरत है लेकिन सरकार पूंजीपतियों को लाभ पहुँचाने की दृष्टिकोण से काम कर रही है आंदोलन कर रहे लोगों ने एक स्वर में सरकार द्वारा लाये गये नये कानून को वापस करने की मांग की गई।

कार्यक्रम में इनकी रही उपस्थिति

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की ओर से कामरेड संजय नामदेव राज्य परिषद सदस्य मध्यप्रदेश मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की ओर से कामरेड रामलल्लू गुप्ता समाजवादी पार्टी की तरफ से लक्ष्मीचंन्द्र दुबे लोकहित समिति से श्री अवधेश दुबे भारतीय महिला फेडरेशन से श्रीमती शिव कली साकेत, अखिल भारतीय किसान सभा के सुग्गालाल विश्वकर्मा, बरगवां विकास मंच से मिथिलेश तिवारी, सीटू से पीएस पांडेय जी अखिल भारतीय नौजवान सभा से दीपक नामदेव, मनोज उपाध्याय, एटक के रामधनी साकेत, रामरति रक्षा फूलमती सहित सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

वीडियो खबरें

फोटो