सिंगरौली। जरहा की धराशायी पुलिया को लेकर कलेक्टर सख्त

वही कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने कड़ा रूख अपनाते हुवे जांच कराकर दोषी क्रियान्वयन एजेंसी के कर्ताधर्ताओं पर कड़ी कार्रवाई करने के संकेत दिया है।

सिंगरौली की आवाज़/ 8 अगस्त 2021

गौरतलब हो कि दो दिन पूर्व जरहा गांव में पुलिया पर वैन चल रही थी इसी दौरान कागज के पन्नों की तरह पुल वैन के साथ वैन को लेकर धराशायी हो गयी। वैन में सवार तीन साल का बालक अमर शाह निवासी रौंदी की मौत हो गयी थी। वहीं बालक के माता-पिता समेत 7 लोग घायल हो गये थे। इस घटना के बाद घटिया पुलिया निर्माण कार्य को लेकर शासन-प्रशासन व एनसीएल परियोजना अमलोरी की किरकिरी भी शुरू हो गयी है। एक ओर जहां घटिया निर्माण कार्य को लेकर जरहा के ग्रामीणों में आक्रोश है तो वहीं दूसरी ओर ग्रामीण लामबंद होकर सोमवार को कलेक्टर के यहां ज्ञापन सौंपने की भी तैयारी कर रहे हैं।

दो साल पूर्व सीएसआर मद से जरहा में साढ़े 3 करोड़ रुपये की लागत से सड़क व पुल का निर्माण किया गया था

गौरतलब हो कि करीब दो साल पूर्व एनसीएल के सीएसआर मद से जरहा में सड़क व पुल का निर्माण कार्य तकरीबन साढ़े 3 करोड़ रूपये की लागत से कराया गया था। निर्माण कार्य के दौरान ही गुणवत्ताविहीन कार्य को लेकर ग्रामीणों ने आपत्ति जताते हुए एनसीएल परियोजना अमलोरी के यहां शिकायत किया था। लेकिन एनसीएल परियोजना के सिविल अमला व ठेकेदार ने अनसूनी कर दिया था। वहीं जर्जर पुलिया निर्माण कार्य के तीन साल के अंदर ही नाले में समा गयी।

वीडियो खबरें

फोटो