32.4 C
Singrauli
May 25, 2022
अपना सिंगरौली इंटरव्यू ऊर्जांचल की ख़बरें खाना खजाना खुटार खेल चितरंगी जयंत ट्रेंडिंग देवसर धार्मिक नवा नगर निगम की पड़ताल पंचायत की पड़ताल बरगवां बिज़नेस न्यूज़ बैढन बॉलीवुड मध्य प्रदेश मनोरंजन माडा मोरवा युवा भारत एवं रोजगार लाइफ स्टाइल विंध्य नगर शिक्षा सरई सरकारी योजना सिंगरौली सोनभद्र हेल्थ हेल्थ न्यूज़

भारत के लिए सही नहीं है चीन और रूस की बढ़ती नजदीकी, हो सकता है नुकसान

रूस और यूक्रेन के बीच उभरे तनाव के बीच पूरी दुनिया की निगाहें आने वाले दिनों पर लगी हैं। वहीं विश्‍व की निगाहें इस बात पर भी लगी हैं कि कौन किसका साथ देगा। इसके अलावा चीन और रूस के बीच आई नजदीकी से जहां अमेरिका को लेकर सवाल उठ रहे हैं वहीं भारत के लिए ये एक बड़ी बात है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि रूस काफी लंबे समय से भारत का सहयोगी रहा है। रणनीतिक और आर्थिक दोनों ही क्षेत्रों में रूस के साथ हमारे घनिष्‍ठ संबंध रहे हैं। वहीं यदि चीन की बात करें तो वो भारत के लिए परेशानी का सबब बनता रहा है। बता दें कि पूर्व सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने चीन को दुश्‍मन नंबर वन करार दिया था। जानकार मानते हैं कि इन दोनों देशों की नजदीकी भारत के लिए एक बड़ी चुनौती बन सकती है।

आब्‍जर्वर रिसर्च फाउंडेशन के प्रोफेसर हर्ष वी पंत का मानना है कि चीन और रूस की नजदीकी एक बड़ी चुनौती बन सकता है। उनका कहना है कि अब तक इस मामले में संतुलन बनाए रखने की पूरी कोशिश की है। लेकिन भविष्‍य में ये संतुलन कितना बना रह सकता है ये कहना फिलहाल काफी मुश्किल है। भारत ने पिछले दिनों सुरक्षा परिषद में इस मुद्दे पर हुई वोटिंग में दूरी बनाकर रखी थी। इसका सीधा अर्थ था कि वो रूस के साथ है। उस वक्‍त भारत ने कहा था कि वो इस तनाव का समाधान तलाशना चाहता है।

Related posts

जीजा ने साली से दुष्कर्म कर की हत्या ,पुलिस ने किया खुलासा

Singrauli Ki Awaz

प्रदेश किसान कांग्रेस के महामंत्री डीपी शुक्ला भू-अर्जन के ख़िलाफ बैठे धरने पर

Singrauli Ki Awaz

माडा थाने के मिठुल में महिला का शव मिलने से मची सनसनी

Singrauli Ki Awaz

Leave a Comment