वार्ड क्रमांक 32 व 33 में ‘निगम पड़ताल’ पर एनटीपीसी व नगर-निगम के साठगाँठ की खुली पोल,

वार्ड 32 व 33 में ‘ एनटीपीसी व नगर निगम के कार्यों का पिछले 20 सालों का हुआ खुलासा

सिंगरौली की आवाज़’ 25 जून 2021

वार्ड निवासी अभी तक मूलभूत सुविधाओं से पिछले कई सालों से वंचित हैं

सिंगरौली नगर निगम के वार्ड क्रमांक 33 में आज सिंगरौली की आवाज ने निगम की पड़ताल करते हुए वार्ड की स्थिति के बारे में स्थानीय लोगों से जमीनी पड़ताल किया, इस दौरान लोगों ने वार्ड की अनगिनत समस्याओं को सिंगरौली की आवाज को बताया जहां नवजीवन विहार स्थिति बनौली में हाल ही में बनाये गए सड़के टूटी फूटी नजर आ रही है स्थानीय लोगो का कहना है कि हाल ही में इस रोड को करीब 40 लाख की लागत से बनाई गई है लेकिन भ्रष्टाचार के चलते सड़के साल भर भी नही चल पाई, जबकि इस रास्ते से लोगो का जयंत बैढन की तरफ आना जाना लगा रहता है , इसके अलावा वार्ड के लोगो ने बताया कि एनटीपीसी विंध्याचल के विस्थापित कॉलोनी होने के बाद भी मूलभूत सुविधाये लोगो को नही मिल रही है , सडके जर्जर स्थिति पर है, नालियां लबालब भरे होने के चलते लोगो के घरों तक गन्दा पानी जा रहा है इसके अलावा बारिश के चलते लोगो के कई ऐसे घर है जो टूट फुट गये ,लेकिन कोई जिम्मेदार सुध लेने नही आये । वार्ड में जिस CSR फंड से लोगो का विकास होना चाहिए उस फंड का स्थानीय लोगो ने बताया कि भ्रष्टाचार कर बंदरबांट कर लिया गया जबकी जिम्मेदार किसी तरह से इस मुद्दे लर ध्यान नही दे रहे हैं!

विस्तृत जानकारी वीडियो के माध्य्म से देखने हेतु नीचे दिए हुवे लिंक पर क्लीक करें..👇

वार्ड 33 की स्थिति इस बारिश की वजह से बेहद दयनीय हो चुकी है, लोंगों को पेय जल की सुविधा भी नगर निगम व एनटीपीसी के द्वारा उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। वहाँ के लोंगो को एनटीपीसी के द्वारा सन् 1986 में विस्थापित किया गया था उन्हें अनेक तरह के लाभों का झांसा देकर वार्ड 33 में विस्थापित किया गया। परन्तु पिछले कई सालों से वहाँ के रहवासी मूलभूत सुविधाओ से ही वंचित है अभी तक।
किसी भी समस्याओं को सुनने वाला उनके कोई नहीं है एनटीपीसी बाउंड्री वाल से 300 मीटर की दूरी पर यह 33 वार्ड है जो कि हर तरह की सुविधाओं से वंचित हैं।
वार्ड का निरीक्षण करने कोई भी एनटीपीसी के हो या नगर निगम के कोई भी अधिकारी कर्मचारी इनकी समस्याओं से अवगत नहीं होना चाहते..!
यहाँ के जनमानस सिर्फ़ वोट बैंक बन कर राह गए हैं अपनी ही शहर में। विस्थापत का नाम देकर इनकी जगह जमीन तक ले ली गईं लेकिन उन्हें जमीनी स्तर पर मूलभूत सुविधाएं तक नहीं दे पा रही है।

सवाल है यहाँ के जनप्रतिनिधियों से सवाल है एनटीपीसी प्रबन्धन से हमारा, ये किससे अपनी समस्याएं कहे कौन सुनेगा इन्हें कोई भी तो संज्ञान में ले इनकी समस्याओं को ताकि कम से के इन्हें मूलभूत सुविधाएं तो मिल सके।

आज सिंगरौली की आवाज ने विस्तृत रिपोर्टिंग की ‘निगम की पड़ताल’ कार्यक्रम में लोगों ने बताया कि एनटीपीसी विंध्याचल कॉलोनी में सेक्टर 1 से 4 के अलावा बनौली , एलआईजी एमआईजी में तरह तरह की समस्याएं लोगों ने बताया एनटीपीसी और नगर निगम विकास के नाम पर हीलाहवाली करती रही आज कॉलोनी में या फिर झुग्गी बस्तियों में रहने वाले लोगो की स्थिति बद से बदतर हो गई।
अंतिम पंक्ति वाले लोगो की चिंता सिर्फ भाषणो और कागजों तक ही सीमित है।

‘सिंगरौली की आवाज़’ चैनल को अधिक स अधिक शेयर करें और हमारे द्वारा किये गए कार्यों का पूरा विवरण पत्रिका के माध्य्म से आप सभी के मध्य भी मौजूद है.!

हमसे जुड़ने के लिए के लिए संम्पर्क करें
9753358303, 8962458505

वीडियो खबरें

फोटो