जीजा ने अपनी साली से ना सिर्फ दुष्कर्म किया बल्कि उसकी निर्मम तरीके से हत्या भी कर दी पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा कर दिया जबकि परिजन भी इस पूरी घटना को महज एक हादसा मान रहे थे सिंगरौली जिले के बैढन थाना क्षेत्र में आने वाले गनियारी इलाके में 27 मार्च को रात तकरीबन 2:00 बजे पुलिस को सूचना मिली कि यहां एक मकान में आग लग गई है और किराए से रहने वाली प्रीति यादव की कमरे में जलकर मौत हो गई पुलिस तुरंत मामले की तफ्तीश शुरू की और घटना की जांच में जुट गई शव के अंतिम परीक्षण के दौरान पुलिस को अहम सुराग मिला जिसने यह पता चला कि मृतक प्रीति यादव के गले में धारदार हथियार से हमला कर उसे काटा गया है और उसके बाद आग से उसका शरीर जला है इसी आधार पर पुलिस ने पूरे मामले की तफ्तीश शुरू कर दी विवेचना में यह भी पुलिस को मिला कि मृतक अपनी छोटी बहन के साथ और अपने जीजा कृष्ण कुमार यादव के साथ यहां रह रही थी शक की पहली सुई पुलिस की मृतक के जीजा कृष्ण कुमार यादव पर गई इसी आधार पर पुलिस ने कृष्ण कुमार यादव को पूछताछ के लिए बुलाया तो पूरा मामला खुलकर सामने आ गया आरोपी के मुताबिक 25 मार्च को मृतक की छोटी बहन अपने गांव चली गई और रात में मृतक प्रीति यादव और उसका जीजा कृष्ण कुमार यादव कमरे में अकेले थे किसी का फायदा उठाकर कृष्ण कुमार ने मृतक के साथ दुष्कर्म किया लेकिन प्रीति ने इस घटना को परिवार के लोगों को बता देने की धमकी दी जिसके बाद आरोपी ने प्रीति से माफी मांगी और आगे ऐसी गलती ना कहने की बात कहकर मामले को रोकने का प्रयास किया लेकिन आरोपी को यह शंका थी कि प्रीति कहीं ना कहीं बात गांव वालों को घर वालों को बता देगी और उसकी बदनामी होगी इसी के चलते उसने प्रीति को मारने का प्लान बनाया और 26 - 27 तारीख की दरमियानी रात तकरीबन रात के 2:00 बजे उसने पहले प्रीति का धारदार हथियार से गला काटा और फिर मिट्टी का तेल छिड़ककर और गैस का सिलेंडर खोलकर कमरे में आग लगा दी और वहां से फरार हो गया आरोपी की यह साजिश बेहद शातिराना तरीके से रची गई थी जिसने न सिर्फ पुलिस बल्कि घर वालों को भी एक बार गुमराह कर दिया था सभी को यही लग रहा था कि यह शार्ट सर्किट से लगी आग हो सकती है किसी को अंदाजा भी नहीं था कि एक जीजा अपनी साली की इस तरह से निर्मम हत्या भी कर सकता है ।